Menu

 


गंभीर बीमारियों से लड़ने को कम कीमत की स्वदेशी प्रौद्योगिकियां

किसी रोग का इलाज उसके निदान पर निर्भर करता है अर्थात यदि समय पर और सटीक निदान कर लिया जाए तो जहां चिकित्सक द्वारा उपयुक्त इलाज की शीघ्र शुरुआत करना आसान हो जाता है वहीं रोगी में उभरने वाली गंभीर जटिलताओं और उनके इलाज पर होने वाले व्यय भार से भी बचा जा सकता है।

Read more...

नाइजीरिया से आए यात्री का इबोला टेस्‍ट नकारात्‍मक

नाइजीरिया से आए यात्री का इबोला टेस्‍ट नकारात्‍मकनई दिल्ली : नाइजीरिया से आए एक यात्री को श्‍वास नली में संक्रमण की शिकायत पाए जाने पर इंदिरा गांधी अंतर्राष्‍ट्रीय हवाई अड्डे से शनिवार को राम मनोहर लोहिया अस्‍पताल ले जाकर इबोला वाइरस-ईवीडी का परीक्षण कराया गया। उस यात्री का यह टेस्‍ट नकारात्‍मक पाया गया है।

Read more...

डायरिया एवं जल जनित बीमारियों की रोकथाम के प्रयास

एक अनुमान के अनुसार भारत में हर वर्ष 1.36 मि‍लि‍यन बच्‍चों की मौत होती है और उनमें से दो लाख बच्‍चों की मृत्‍यु डायरि‍या के कारण होती है। हालांकि, प्रति‍रक्षण और अन्‍य बाल स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल सेवाओं में सुधार के कारण भारत में शि‍शु मृत्‍यु दर (आईएमआर) और पांच वर्ष से कम आयु के शि‍शु की मृत्‍यु दर (यू5एमआर) में नि‍रंतर कमी आ रही है। डब्‍ल्‍यूएचओ के 2012 के आंकड़ों के अनुसार, प्रत्‍येक वर्ष पांच वर्ष से कम आयु के शि‍शुओं की मृत्‍यु में 11 प्रति‍शत मृत्‍यु डायरि‍या के कारण होती है।

Read more...

स्तनपान : स्वास्थ्यवर्द्धक ही नहीं, जीवनरक्षक भी...

प्रत्येक बच्चे को जीवन के शुरुआती वर्षों में उचित शारीरिक वृद्धि और विकास के लिए पर्याप्त पोषण, उचित देखभाल, प्यार और स्नेह की जरूरत होती है। स्तनपान न केवल शिशुकाल/ बचपन के दौरान बल्कि बाद के वर्षों में भी उसके स्वस्थ जीवन की नींव रखता है।

Read more...

loading...
Bookmaker with best odds http://wbetting.co.uk review site.