Menu

 


काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान में एक सींग वाले गैंडों की संख्या बढ़ी

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान में एक सींग वाले गैंडों की संख्या बढ़ी

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान भारत का सबसे पुराना वन्य जीव संरक्षण क्षेत्र है। साल 1905 में इसे पहली बार अधिसूचित किया गया था और 1908 में इसका गठन संरक्षित वन के रूप में किया गया जिसका क्षेत्रफल 228.825 वर्ग किलोमीटर था। इसका गठन विशेष रूप से एक सींग वाले गैंडे के लिए किया गया था जिसकी संख्या तब यहां लगभग 24 जोड़ी थी। 1916 में काजीरंगा को एक पशु अभयारण्य घोषित किया गया था और 1938 में इसे आगंतुकों के लिए खोला गया था। (Read in English)

Read more...

आदित्य नौका : स्वच्छ ऊर्जा के लिए वाईकॉम में एक नया सत्याग्रह...

आदित्य नौका : स्वच्छ ऊर्जा के लिए वाईकॉम में एक नया सत्याग्रह...

केरल में कोट्टायम जिले के उत्‍तर-पूर्व जिला स्थित सत्‍याग्रह की धरती वाईकॉम ने इस साल 12 जनवरी को एक बार फिर इतिहास रचा है। आदित्‍य नाम से भारत की पहली सौर ऊर्जा संचालित नौका सेवा को वाईकॉम और थवंक्‍काडावू के बीच शुरू किया गया है, जो कोट्टायम और अलाप्‍पुझा जिलों को आपस में जोड़ेगी। 

Read more...

देश के 91 प्रमुख जलाशयों के जलस्तर में दो फीसदी की कमी

देश के 91 प्रमुख जलाशयों के जलस्तर में दो फीसदी की कमी दर्ज की गई है। इन जलाशयों में 115.457 बीसीएम (अरब घन मीटर) जल का संग्रहण आंका गया है। यह इन जलाशयों की कुल संग्रहण क्षमता का 73 प्रतिशत है।

नई दिल्ली : देश के 91 प्रमुख जलाशयों के जलस्तर में दो फीसदी की कमी दर्ज की गई है। इन जलाशयों में 115.457 बीसीएम (अरब घन मीटर) जल का संग्रहण आंका गया है। यह इन जलाशयों की कुल संग्रहण क्षमता का 73 प्रतिशत है। यह पिछले वर्ष की इसी अवधि के कुल संग्रहण का 130 प्रतिशत तथा पिछले 10 वर्षों के औसत जल संग्रहण का 99 प्रतिशत है।

Read more...

गोदावरी एवं कृष्‍णा बेसिन में भीषण बाढ़ की आशंका

मौसम विभाग ने गोदावरी एवं कृष्‍णा बेसिन में बाढ़ आने की भविष्‍यवाणी की है। तेलंगाना, मध्‍य महाराष्‍ट्र, विदर्भ, मराठावाड़ा एवं तेलंगाना के निजामाबाद जिले में आरमूर के साथ उत्‍तरी आंतरिक कर्नाटक के कुछ स्‍थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश तथा छिटपुट स्‍थानों पर 40 सेंटीमीटर की बेहद तेज बारिश रिपोर्ट दी गई है।

नई दिल्ली : मौसम विभाग ने गोदावरी एवं कृष्‍णा बेसिन में बाढ़ आने की भविष्‍यवाणी की है। तेलंगाना, मध्‍य महाराष्‍ट्र, विदर्भ, मराठावाड़ा एवं तेलंगाना के निजामाबाद जिले में आरमूर के साथ उत्‍तरी आंतरिक कर्नाटक के कुछ स्‍थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश तथा छिटपुट स्‍थानों पर 40 सेंटीमीटर की बेहद तेज बारिश रिपोर्ट दी गई है। 

Read more...

loading...
Bookmaker with best odds http://wbetting.co.uk review site.