Menu

 


उत्तराखंड आपदा का एक साल : निशान अब भी हैं बाकी...

ठीक एक साल पहले आज ही का दिन उत्तराखंड के लिए किसी काले दिन से कम नहीं था। उत्तराखंड में आई भीषण दैवीय अपदा ने उत्तराखंड के दिल में ऐसा जख्म दिया कि आज एक साल हो जाने के बाद भी उस जख्म के घाव हरे हैं। उस दौरान 'देवभूमि' कही जाने वाली उत्तराखंड की जमीन में किसी भी देव के पदचिह्न नहीं बल्कि लाशों का अंबार दिखाई दे रहा था।

Read more...

धरोहर संरक्षण में वैज्ञानिक कार्यप्रणाली की भूमिका

यह कहा जाता है 'किसी व्‍यक्ति का अपनी धरोहर से संबंध उसी प्रकार का है, जैसे एक बच्‍चे का अपनी मां से संबंध होता है। हमारी धरोहर हमारा गौरव है और इसे भविष्‍य में आने वाली पीढ़ियों के लिए बचाना तथा इसका संरक्षण करना हम सबकी जिम्‍मेदारी है। भारतीय संविधान के अनुच्‍छेद 51ए(एफ) में स्‍पष्‍ट कहा गया है कि अपनी समग्र संस्‍कृति की समृद्ध धरोहर का सम्‍मान करना और इसे संरक्षित रखना प्रत्‍येक भारतीय नागरिक का कर्तव्‍य है।

Read more...

जैवविविधता का संरक्षण भारतीय लोकाचार का अंतरंग हिस्सा

जैवविविधता का संरक्षण और उसका निरंतर उपयोग करना भारत के लोकाचार का एक अंतरंग हिस्सा है। अभूतपूर्व भौगोलिक और सांस्कृतिक विशेषताओं ने मिलकर जीव जंतुओं की इस अद्भुत विविधता में योगदान दिया है जिससे हर स्तर पर अपार जैविक विविधता देखने को मिलती है।

Read more...

इस मानसून कम बरसेंगे बादल

नई दिल्ली : भारतीय मौसम विज्ञान विभाग और पृथ्rainवी प्रणाली विज्ञान संगठन (ईएसएसओ) ने वर्ष 2014 के लिए दक्षिण-पश्चिम मानसून मौसम में वर्षा के लम्बी अवधि पूर्वानुमान जारी किए हैं।

Read more...

loading...
Bookmaker with best odds http://wbetting.co.uk review site.