Menu

 


इस मानसून कम बरसेंगे बादल

नई दिल्ली : भारतीय मौसम विज्ञान विभाग और पृथ्rainवी प्रणाली विज्ञान संगठन (ईएसएसओ) ने वर्ष 2014 के लिए दक्षिण-पश्चिम मानसून मौसम में वर्षा के लम्बी अवधि पूर्वानुमान जारी किए हैं।

विभाग के अनुसार मानसून मौसम में (जून से सितंबर) देश में लम्बी अवधि में औसत वर्षा 88 प्रतिशत हो सकती है। इस मात्रा में पांच प्रतिशत कमी या वृद्धि की संभावना है।  (Read in English:Rainfall This Monsoon Season Likely To Be Less Than Average)


मानसून मौसम में वर्षा की औसत मात्रा लम्बी अवधि में 95 प्रतिशत हो सकती है ईसमें कमी या वृद्धि की संभावना 5 प्रतिशत है। 1951-2000 की अवधि में मानसून के मौसम में देश में (लम्बी अवधि में) औसत वर्षा 89 सेंटीमीटर रही है।

Last modified onFriday, 25 April 2014 17:16
back to top

loading...
Bookmaker with best odds http://wbetting.co.uk review site.