Menu

 


दक्षिण की नदियों के जलस्तर में तेजी की आशंका

दक्षिण की नदियों के जलस्तर में तेजी की आशंका

दक्षिण की नदियों के जलस्तर में तेजी की आशंकानई दिल्ली : भारतीय मौसम विभाग के जारी पूर्वानुमान में 7-12 जून के दौरान कोंकण, गोवा, और मध्य महाराष्ट्र की कुछ जगहों पर भारी से बहुत भारी वर्षा होने की आशंका व्यक्त की गई है।

Read in English: Rapid Rise Likely In South Rivers’ Water Levels

कर्नाटक में 9-11 जून के दौरान भारी से बहुत भारी वर्षा होने की आशंका व्यक्त की गई है। 9-10 जून के दौरान केरल के कुछ स्थानों में भी भारी से बहुत भारी वर्षा हो सकती है। 

इस चेतावनी के कारण पश्चिम की और बहने वाली नदियों जैसे-तापी, ताद्री तथा गोदावरी, कृष्णा, कावेरी और इनकी सहायक नदियों के पश्चिम तटीय हिस्सों में जल स्तर में वृद्धि हो सकती है।

बहुत भारी वर्षा के पूर्वानुमान तथा दक्षिण-पश्चिमी मानसून से पैदा होने वाली समुद्री लहरों के कारण मुंबई नगर के कुछ हिस्सों में जलप्लावन की संभावना है। जिन नदियों के स्रोत पश्चिमी घाट हैं उनमें भारी बारिश से बाढ़ आ सकती है।

महाराष्ट्र के नासिक, गुजरात के वलसाड़ और दमन व दीव में दमनगंगा व उसकी सहायक नदियों के जल स्तर में वृद्धि की आशंका है।

नासिक, अहमदनगर और औरंगाबाद जिले में गोदावरी नदी के जल स्तर में वृद्धि हो सकती है। महाराष्ट्र के सतारा, सांगली, कोल्हापुर, पुणे, सोलापुर तथा बागलकोट में कृष्णा और इसकी सहायक नदियों के जल स्तर में वृद्धि होने की आशंका है। कर्नाटक के चिकमंगलुर, शिवमोगा और बेल्लारी जिलों में तुंगभद्रा नदी के जलस्तर में वृद्धि होने की संभावना है। इन नदियों पर बने बांधों का जलस्तर अभी निम्न है। इस वर्षा से इन बांधों में जलसंग्रह होगा।

तापी नदी के दक्षिण में अरब सागर की ओर बहने वाली नदियों के जलस्तर में वृद्धि होने की संभावना है। इससे महाराष्ट्र के रायगढ़, थाणे, रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग तथा कर्नाटक के उत्तर कन्नड़, उडुपी तथा दक्षिण कन्नड़ जिलों में जलप्लावन की स्थिति हो सकती है।

भारी से बहुत भारी वर्षा के पूर्वानुमान के कारण कर्नाटक के कोडागु, चिकमगलुर, हासन और मैसुरू तथा केरल के वायनाड़ जिले में कृष्णा व इसकी सहायक नदियों के जलस्तर में वृद्धि हो सकती है।

Last modified onFriday, 08 June 2018 11:54
back to top

loading...
Bookmaker with best odds http://wbetting.co.uk review site.