Menu

 


खुद को अभिव्यक्त करता है प्रतिरोध...

हमारे अंदर अपने बारे में ऐसे विचार होते हैं, जिन्हें हम प्रतिबंधों या बदलने के प्रति अनिच्छा के रूप में इस्तेमाल करते हैं। जैसे-हम अधिक बड़े, अधिक छोटे, अधिक मोटे, अधिक पतले, अधिक नाटे, अधिक लंबे, अधिक आलसी, अधिक मजबूत, अधिक कमजोर, अधिक मूर्ख, अधिक आकर्षक, अधिक गरीब, अधिक अयोग्य, अधिक तुच्छ, अधिक गंभीर, अधिक अवरुद्ध और शायद यह कुछ अधिक ही है।

Read more...

कैसे जानें कि आप सफल हैं या नहीं...?

जो कुछ भी हम करते हैं उसका एक निश्चित लक्ष्य होता है। उसके पीछे एक सोच होती है। जब भी हम अपने या दूसरों के लिए कुछ करते हैं तो इस बात का निर्धारण अहम होता है कि आपके कार्य का क्या महत्व है, क्या प्राप्त होगा और किस कीमत पर प्राप्त होगा?

Read more...

झूठी प्रशंसा से बचने में ही भलाई...

हमें हमेशा नया विवेक एवं योग्यता सीखने का प्रयास करना चाहिए। ये गुण हमेशा हमारे साथ रहेगा और ये कोई हमसे ले नहीं सकता। वास्तव में चुनौतीपूर्ण स्थितियां एवं परिस्थितियां आएंगी और आपकी योग्यता सारी परेशानियों को सुलझाने के लिए अपर्याप्त हो सकती है। लेकिन, ये हमें अच्छी शुरुआत करने के योग्य बना सकता है।

Read more...

loading...
Bookmaker with best odds http://wbetting.co.uk review site.