Menu

 


आपके बच्चे के लिए सर्वोत्तम उपहार है आर्थिक आजादी

आपके बच्चे के लिए सर्वोत्तम उपहार है आर्थिक आजादीअभिभावक के तौर पर आप अपने बच्चे को वित्तीय रूप से स्वतंत्र व्यक्ति के रूप में बढ़ते हुए देखना चाहते हैं। शायद आप यह सुनिश्चित करने के लिए घड़ी की सुइयों के साथ काम कर रहे हैं कि उन्हें अच्छी शिक्षा मिले। आप उनके भविष्य के लिए बचत भी कर रहे हैं लेकिन, स्कूल बच्चों को उतनी जल्दी पैसे के बारे में नहीं सिखाते हैं। हो सकता हैं कि अब आप पहल करना चाहते हैं। यहां वे तरीके दिए गए हैंजिनके साथ आप अपने बच्चे को उसकी आर्थिक आजादी की ओर ले जा सकते हैं।

Read more...

मलिन बस्तियों के बच्चों को सपनों की उड़ान दे रहा है 'बस्ती का रंगमंच'

नाट्य संस्था 'रंगलीला' ने रंगकर्म की एक नई अवधारणा से इन बस्तियों के बच्चों को जोड़ा है और अपने इस नए अभियान का नाम रखा है 'बस्ती का रंगमंच।'

आगरा : घटिया आज़म खां क्षेत्र से जुड़ी आधा दर्जन से ज़्यादा मलिन बस्तियों में इन दिनों सांस्कृतिक विकास की एक नई धारा बह रही है। नाट्य संस्था 'रंगलीला' ने रंगकर्म की एक नई अवधारणा से इन बस्तियों के बच्चों को जोड़ा है और अपने इस नए अभियान का नाम रखा है 'बस्ती का रंगमंच।' 

Read more...

बेघर बच्चों के लिए बदलाव की बयार...

सड़कों पर रहने वाले बेघर बच्‍चों के लिए अब प्रसन्‍न होने का समय है। आमतौर पर ‘स्‍ट्रीट चिल्‍ड्रन’ कहे जाने वाले 20 लाख से अधिक भारतीय बच्‍चे सुरक्षित देखभाल,पोषण, स्‍वास्‍थ्‍य और शिक्षा के बगैर जीते हैं।

सड़कों पर रहने वाले बेघर बच्‍चों के लिए अब प्रसन्‍न होने का समय है। आमतौर पर ‘स्‍ट्रीट चिल्‍ड्रन’ कहे जाने वाले 20 लाख से अधिक भारतीय बच्‍चे सुरक्षित देखभाल,पोषण, स्‍वास्‍थ्‍य और शिक्षा के बगैर जीते हैं। मेरे लिए वे सड़क पर नन्‍हे फूलों की तरह हैं जो हमारी सामूहिक उदासीनता के बावजूद जिंदा हैं।

Read more...

आपके बच्चे को बहरा न बना दे गर्भावस्था में ली गई एंटीबायटिक…

आपके बच्चे को बहरा न बना दे गर्भावस्था में ली गई एंटीबायटिक…

आगरा : गर्भावस्था के दौरान डॉक्टर के परामर्श के बिना कोई दवा न लें क्योंकि इसका असर आपके गर्भस्थ शिशु पर पड़ सकता है। यहां तक कि डॉक्टर की सलाह के बिना ली गई एंटीबायटिक दवाएं आपके गर्भस्थ शिशु की सुनने की क्षमता भी समाप्त कर सकती हैं। चिकित्सा तकनीक के ऐसे विकसित दौर में जब गर्भ में ही बच्चे के सुनने की क्षमता का पता लगाया जा सकता है, तब मामूली सी लापरवाही बच्चों के बहरेपन के प्रतिशत को बढ़ाने में उत्प्रेरक का काम कर रही है।

Read more...

'किशोरों को प्रॉपर्टी नहीं, ईश्वर का दिया वरदान समझें'

किशोर अभिभावकों की प्रॉपर्टी नहीं, बल्कि ईश्वर द्वारा दिया गया वह खूबसूरत वरदान होते हैं, जो हर किसी को नसीब नहीं होता... आखिर क्या कारण है जिससे बच्चे किशोर होने पर अभिभावकों से दूर भागने लगते हैं... क्यों बच्चे से किशोर होते ही माता-पिता का रुख बदल जाता है... यह कहना था डॉ. जेएस टुटेजा का।

आगरा : किशोर अभिभावकों की प्रॉपर्टी नहीं, बल्कि ईश्वर द्वारा दिया गया वह खूबसूरत वरदान होते हैं, जो हर किसी को नसीब नहीं होता... आखिर क्या कारण है जिससे बच्चे किशोर होने पर अभिभावकों से दूर भागने लगते हैं... क्यों बच्चे से किशोर होते ही माता-पिता का रुख बदल जाता है... यह कहना था डॉ. जेएस टुटेजा का। वह सेंट कॉनरेड्स स्कूल में एडोलिसेन्ट हेल्थ एकेडमी व इंडियन पीडिएट्रिक एसोसिएशन द्वारा आयोजित स्कूल एजुकेशन प्रोग्राम में अभिभावकों व शिक्षकों को सम्बोधित कर रहे थे।

Read more...

बच्चे-बड़ों के बीच 'अंतर' करना सीखेंगे डॉक्टर और अभिभावक

किशोर (एडोलिसेन्ट) आखिर बच्चे हैं या बड़े? कभी उन्हें अभिभावक बड़ा कहकर उनकी गलतियों पर डांट लगा देते हैं तो कभी कोई निर्णय लेने पर बच्चा कहकर कौने में बैठा दिया जाता है।

आगरा : किशोर (एडोलिसेन्ट) आखिर बच्चे हैं या बड़े? कभी उन्हें अभिभावक बड़ा कहकर उनकी गलतियों पर डांट लगा देते हैं तो कभी कोई निर्णय लेने पर बच्चा कहकर कौने में बैठा दिया जाता है। कुछ वर्ष पूर्व तक किशोरों (एडोलिसेन्ट) को कई बार पीडिएट्रिक (बच्चों के डॉक्टर) उन्हें फिजिशियन के पास जाने की सलाह देते हैं और फिजिशियन, पिडिएट्रिक के पास। मानसिक और शारीरिक रूप से हो रहे परिवर्तन को महसूस कर रहे यह बच्चे आखिर अपनी समस्या और सवालों को लेकर किसके पास जाएं? उनके खान-पान, मानसिक स्वास्थ्य, स्कूल प्रोबलम, इंटरनेट से सम्बंधिक समस्याओं को कैसे हल किया जाए। बाल रोग विशेषज्ञ अब किशोरों की देखभाल करेंगे। एमसीआई ने इसे उनके पाठ्यक्रम में भी शामिल कर दिया है।

Read more...
Subscribe to this RSS feed

loading...
Bookmaker with best odds http://wbetting.co.uk review site.