Menu

 


चुनौतियों से भरे 70 साल; क्या खोया, क्या पाया…!

ब्रिटिश हुकूमत का मतलब क्या था यह उस समय के आंदोलन के इतिहास के एक अंश से समझा जा सकता है। महात्मा गांधी ने ‘यंग इंडिया’ में लिखा“ हमें अनुभव होता हो या न होता हो, कुछ दिन से हम पर एक प्रकार का फौजी शासन हो रहा है। फौजों का शासन आखिर है क्या? यही कि सैनिक अफसर की मर्जी ही कानून बन जाती है और वह चाहे साधारण कानून को ताक पर रखकर विशेष आज्ञाएं लाद देता है और जनता बेचारी में उनके विरोध करने का दम नहीं होता, पर मैं आशा करता हूं, वे दिन जाते रहे कि अंग्रेज शासकों के फरमानों के आगे हम चुपचाप सिर झुका दें...”

Read more...

“न गाली से, न गोली से, परिवर्तन होगा गले लगाने से”

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 71वें स्‍वतंत्रता दिवस के अवसर पर लालकिले की प्राचीर से राष्‍ट्र को संबोधित किया। प्रधानमंत्री ने उन महान महिलाओं और पुरुषों को याद किया जिन्‍होंने भारत की स्‍वतंत्रता के लिए कड़ा परिश्रम किया था। उन्‍होंने कहा कि भारत के लोग प्राकृ‍तिक आपदा से प्रभावित लोगों तथा गोरखपुर में हुई त्रासदी के समय कंधे से कंधा मिलाकर उनके साथ रहे हैं। 

(Read in English: PM Addresses Nation From The Ramparts Of Red Fort On 71st Independence Day)

Read more...

लाल किले से प्रधानमंत्री मोदी का राष्ट्र को संबोधन

लाल किले से प्रधानमंत्री मोदी का राष्ट्र को संबोधन

71वें स्वंतत्रता दिवस के अवसर पर 15 अगस्त को दिल्ली के लाल किले के प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी राष्ट्र को संबोधित करते हुए...।

Read more...

71वें स्‍वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री के भाषण की मुख्‍य बातें

71वें स्‍वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री के भाषण की मुख्‍य बातेंनई दिल्ली : देशभर में 71वें स्वतंत्रता दिवस की धूम है। लालकिले की प्राचीर से देश को संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मुख्य बातें इस प्रकार हैं...

Read more...
Subscribe to this RSS feed

loading...
Bookmaker with best odds http://wbetting.co.uk review site.