मनोरंजन समाचार

मनोरंजन (74)

संवेदनशीलता के शिल्पकार हैं के. विश्‍वनाथ

जाने-माने तेलुगू निर्देशक कासीनाधुनी विश्‍वनाथ को भारतीय सिनेमा में उनके विशिष्‍ट योगदान के लिए वर्ष 2016 के लिए प्रतिष्ठित दादासाहेब फाल्‍के पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया गया है। (Read in English)

Read more...

राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार इस देश का सबसे सम्मानित राष्ट्रीय पुरस्कार है जिसे पाने की तमन्ना भारतीय सिनेमा के बड़े फिल्म सितारों से लेकर एक संघर्षरत फिल्मकार, अभिनेता या तकनीशियन तक करता है। खास बात यह है कि जहां निजी क्षेत्र के दूसरे अन्य कई फिल्म पुरस्कारों ने अपनी गरिमा और विश्वसनीयता पूरी तरह से खो दी है, राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों ने अपनी गरिमा और विश्वसनीयता बरक़रार रखी है।

राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार इस देश का सबसे सम्मानित राष्ट्रीय पुरस्कार है जिसे पाने की तमन्ना भारतीय सिनेमा के बड़े फिल्म सितारों से लेकर एक संघर्षरत फिल्मकार, अभिनेता या तकनीशियन तक करता है। खास बात यह है कि जहां निजी क्षेत्र के दूसरे अन्य कई फिल्म पुरस्कारों ने अपनी गरिमा और विश्वसनीयता पूरी तरह से खो दी है, राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों ने अपनी गरिमा और विश्वसनीयता बरक़रार रखी है। 

Read more...

देश में यूं तो बरसों से कई फिल्म पुरस्कार समारोह होते रहे हैं, उनमें कुछ में बड़े-बड़े सितारों की मौजूदगी और उनके द्वारा प्रस्तुत देर रात तक चलने वाले रंगारंग कार्यक्रम ऐसे समारोह को कुछ लोकप्रिय भी करते हैं, लेकिन, जो प्रतिष्ठा व महत्व राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों का है वह अद्धभुत है। सच कहा जाए तो राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार देश के सर्वाधिक प्रतिष्ठित फिल्म पुरस्कार हैं और बरसों से चली आ रही इस परंपरा का आज भी कोई सानी नहीं है।

देश में यूं तो बरसों से कई फिल्म पुरस्कार समारोह होते रहे हैं, उनमें कुछ में बड़े-बड़े सितारों की मौजूदगी और उनके द्वारा प्रस्तुत देर रात तक चलने वाले रंगारंग कार्यक्रम ऐसे समारोह को कुछ लोकप्रिय भी करते हैं, लेकिन, जो प्रतिष्ठा व महत्व राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों का है वह अद्धभुत है। सच कहा जाए तो राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार देश के सर्वाधिक प्रतिष्ठित फिल्म पुरस्कार हैं और बरसों से चली आ रही इस परंपरा का आज भी कोई सानी नहीं है।

Read more...

जाने-माने फिल्म निर्देशक के. विश्वनाथ को दादा साहेब फाल्के पुरस्कार

नई दिल्ली : जाने-माने फिल्म निर्देशक और फिल्म अभिनेता कासीनधुनी विश्वनाथ को 2016 के लिए 48वें दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। (Read in English)

Read more...

गायन के रिएलिटी शो पर आधारित फिल्म ‘ब्लू माउंटेन्स’ के निर्माता राजेश जैन फिल्म में दिखाए गए प्रतियोगिता के फाइनल को ताजमहल पर शूट करना चाहते थे लेकिन अनुमति नहीं मिलने की वजह से उन्हें यह कदम वापस लेना पड़ा।

आगरा: गायन के रिएलिटी शो पर आधारित फिल्म ‘ब्लू माउंटेन्स’ के निर्माता राजेश जैन फिल्म में दिखाए गए प्रतियोगिता के फाइनल को ताजमहल पर शूट करना चाहते थे लेकिन अनुमति नहीं मिलने की वजह से उन्हें यह कदम वापस लेना पड़ा। 

Read more...

इन्हें भी पढ़ें

loading...

About Us  * Contact UsPrivacy Policy * Advertisement Enquiry * Legal Disclaimer * Archive * Best Viewed In 1024*768 Resolution * Powered By Mediabharti Web Solutions