Menu

 


जानिए प्रधानमंत्री श्रम योगी मान धन योजना की दस महत्वपूर्ण बातें

जानिए प्रधानमंत्री श्रम योगी मान धन योजना की दस महत्वपूर्ण बातें

 जानिए प्रधानमंत्री श्रम योगी मान धन योजना की दस महत्वपूर्ण बातेंप्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने औपचारिक रूप से प्रधानमंत्री श्रम योगी मान धन योजना का शुभारंभ कर दिया है। हम यहां आपको इससे संबंधित 10 मुख्य बातें बता रहे हैं।

1. इस योजना में अब तक लगभग14.5लाख लाभार्थी पंजीकृत हो चुके हैं।

2. जमीनी स्‍तर पर इस योजना की सफलता के लिए देशभर में तीन लाख कॉमन सर्विस सेंटर खोले गए हैं।

3. इस योजना के तहत घरेलू कामगार,रिक्‍शा चालक,खेती मजदूर, ईंट भट्ठा मजदूर, मोची, कूड़ा उठाने वाले, धोबी, ग्रामीण भूमिहीन मजदूर, निर्माण श्रमिक, बीड़ी श्रमिक, हथकरघा श्रमिक, चमड़े के काम में लगे मजदूर, दृश्य-श्रव्‍य मजदूर और इसी तरह के अन्य कार्य करने वाले कामगार आएंगे।

और छोटे विक्रेताओं को श्रम योगी के रूप में मान्‍यता मिलेगी। देश में इस तरह के करीब 42 करोड़ कामगार हैं। इन कामगारों की देश के कुल श्रम बल में करीब 85 प्रतिशत की हिस्‍सेदारी है।

4. इस योजना के तहत श्रम योगियों के 60 वर्ष का हो जाने पर जब उनके पास आजीविका का कोई भी साधन नहीं होगा तो उन्‍हें पूरे जीवन के दौरान3000रुपये प्रति माह का मान धन प्रदान किया जाएगा।

5. इस योजना के कार्यान्वयन के लिए कम से कम12लाख युवाओं को रोजगार मिलेगा।

6. इस योजना के अंतर्गत15,000रुपये प्रति माह या इससे कम आय वाले असंगठित क्षेत्र के कामगार शामिल होंगे।

7. योजना में शामिल होने के लिए न्‍यूनतम आयु18वर्ष और अधिकतम आयु 40 वर्ष है।

8. यह एक स्‍वैच्छिक और अंशदान आधारित योजना है। इस योजना के तहत अंशदानकर्ता का योगदान उसकी योजना में प्रवेश आयु के आधार पर55रुपये से 200 रुपये तक है।

9. इस योजना में केन्‍द्र सरकार भी लाभा‍र्थी के पेंशन खाते में उसके बराबर ही योगदान करेगी। 10. अंशदानकर्ता के इस योजना से बाहर होने के मामले में उसका पूरा अंशदान लौटा दिया जाएगा।    

Last modified onWednesday, 17 April 2019 20:34
back to top

loading...
Bookmaker with best odds http://wbetting.co.uk review site.