Menu

 

English Edition

शहर में चला यमुना सफाई का अभियान Featured

आगरा (भारत): सैकड़ों पर्यावरण कार्यकर्ताओं ने आगरा शहर में यमुना की सफाई के लिए अभियान चलाया। 18 मार्च से 25 मार्च तक विश्व जल सप्ताह के तहत उन्होंने यमुना की सफाई का यह अभियान शुरू किया। इस दौरान यमुना की गंदगी साफ की जाएगी, खास तौर पर पॉलिथीन बाहर निकाले जाएंगे।

यह अभियान रिवर्स ऑफ द वर्ल्ड फाउंडेशन एवं ब्रज मंडल हेरिटेज कंजर्वेशन सोसाइटी ने मिलकर शुरू किया है। इसका एक उद्देश्य यमुना की सफाई के लिए उत्तर प्रदेश की नई सरकार पर दबाव बनाना भी है।

कार्यक्रम समन्वयक श्रवण कुमार सिंह ने आगराटुडे.इन से कहा, "उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को पर्यावरण और प्रकृति प्रेम के लिए जाना जाता है। हम इस स्वच्छता अभियान के जरिये यह संदेश देना चाहते हैं कि यमुना की सफाई तुरंत और युद्धस्तर पर की जानी चाहिए।"

मानवाधिकार कार्यकर्ता नरेश पारस ने कहा, "आखिर कब तक सरकार इन गंभीर मुद्दों की उपेक्षा करती रहेगी जो कि हमारे जीवन और स्वास्थ्य से सीधे जुड़ा हुआ है।"

इस अवसर पर केंद्रीय हिंदी संस्थान के रजिस्ट्रार सीके त्रिपाठी ने कहा, "हमें यहां के लोगों की संवेदना जागृत करनी होगी और उन्हें यमुना नदी से जोड़ना होगा। वे भूल गए हैं कि इस शहर में एक नदी भी है। यह हमारी सामूहिक जिम्मेदारी है कि हम अपने जल संसाधनों की स्वच्छता सुनिश्चित करें।"

यह सफाई अभियान विवादास्पद ताज कॉरिडोर के पास शुरू किया गया जो कि दो धरोहर स्थल ताजमहल और आगरा किला के पास स्थित है।

रिवर्स ऑफ द वर्ल्ड फाउंडेशन के सुबिजय दत्त ने अमेरिका से भेजे अपने संदेश में कहा, "यह सफाई अभियान चीन में यांगत्ज कियांग नदी, आगरा, गोकुल और देहरादून में यमुना नदी, ऋषिकेश में गंगा नदी, कोलकाता में हुगली नदी, भुवनेश्वर में दया नदी और सिलचर, असम में बराक नदी के साथ ही नेपाल, फिलीपींस देशों में एक साथ शुरू किया गया है।"

back to top

loading...
Bookmaker with best odds http://wbetting.co.uk review site.