Menu

 

English Edition

अस्पताल विस्फोट मामले में संदिग्ध मरीज पर शक Featured

आगरा (भारत): जय अस्पताल में हुए विस्फोट की जांच में एक महिला संदेह के घेरे में आई है जो रिसेप्शन काउंटर पर चिकित्सीय शुल्क जमा करने के बावजूद चिकित्सक के पास परीक्षण कराने नहीं गई।

आगरा के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने आगराटुडे.इन को बताया, "शनिवार शाम शहर के जय अस्पताल में हुए विस्फोट से कुछ देर पहले वहां एक महिला बुर्का पहने हुए आई और चिकित्सक से परीक्षण कराने के लिए 200 रुपये चिकित्सीय शुल्क के रूप में जमाकर रसीद बनवाई लेकिन चिकित्सकों ने हमें बताया कि उन्होंने किसी बुर्का पहने हुए महिला का परीक्षण नहीं किया। वह महिला संदेह के घेरे में है।"

अधिकारी ने कहा, "हमें पता चला कि वह महिला एक पुरुष के साथ आई थी और दोनों ने अलग-अलग 200-200 रुपये की रसीद कटवाई थी।"

अस्पताल सूत्रों के मुताबिक महिला का रसीद नंबर 2578 था जिसमें उसने नाम नीलम लिखवाया था।

पुलिस अधिकारी ने कहा, "हमें उस महिला के नाम को लेकर संदेह है। महिला की तलाश की जा रही है।"

घटना के दो दिन बाद भी यह साफ नहीं हो पाया है कि यह कोई आतंकी घटना थी या फिर इसे व्यावसायिक रंजिश के चलते अंजाम दिया गया।

आगरा के पुलिस अधीक्षक (शहर) अशोक प्रसाद ने सोमवार शाम को कहा कि जांच की जा रही है। फिलहाल इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है।

उल्लेखनीय है कि शहर के जय अस्पताल के स्वागत कक्ष में हुए कम तीव्रता के विस्फोट में छह लोग घायल हो गए थे। पुलिस ने इसे देसी बम का विस्फोट बताते हुए कहा है कि विस्फोट सल्फर, गंधक, पोटाशियम क्लोरेट और चारकोल के मिश्रण से तैयार आईईडी के जरिए कराया गया था। विस्फोट का मकसद अभी भी रहस्य बना हुआ है।

back to top

loading...
Bookmaker with best odds http://wbetting.co.uk review site.