Menu

 

English Edition

ताज महल को सूखी और प्रदूषित यमुना से है असली खतरा Featured

आगरा (भारत): ताज महल को सूखी और प्रदूषित यमुना से खतरे का अंदेशा पहले भी जताया जाता रहा है लेकिन अब उसकी संगमरमर की सतह पर उभरे धब्बे इसकी तसदीक करने लगे हैं। संगमरमर पर उभरे इन बदरंग धब्बों को देखकर यूं लगता है कि ताज महल की खूबसूरती गायब होने की शुरुआत हो गई है।

विश्व धरोहर सूची में शुमार ताज महल के बारे में हाल ही में लिखी गई पुस्तक में आर. नाथ ने कहा, "यह बिल्कुल सीधी, सरल और तार्किक बात है कि यदि यमुना के प्रवाह में कमी बनी रही तो ताज महल की स्थिति लम्बे समय तक ठीक नहीं रहने वाली।"

वहीं भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग (एएसआई) के विशेषज्ञ सूखी और प्रदूषित यमुना नदी से ताज के लिए पैदा हो रहे खतरे को गंभीर नहीं मान रहे हैं।

एएसआई के एक अधिकारी ने ताज की नींव कमजोर होने को लेकर उठ रहे सवालों के बारे में कहा कि कुछ वर्ष पहले ही नींव में दरार पड़ने की बातें सामने आईं थीं लेकिन उसकी मरम्मत की गई थी।

उधर, एस. वरदराजन समिति ने कहा था कि ताज महल के आसपास की परिस्थतियों से किसी तरह की छेड़छाड़ नहीं की जानी चाहिए।

संरक्षणवादी श्रवण भारती कहते हैं, "वे (अधिकारी) ताज महल की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।"

ताज महल की देख-रेख से जुड़े प्रभारी अधिकारी आरके दीक्षित ने कहा कि मुख्य द्वार से लेकर ताज महल के सफेद गुम्बद के बीच की दूरी 300 मीटर है। इसके अलावा महताब बाग से ताज महल की दूरी भी बिल्कुल 300 मीटर ही है।

यमुना को प्रदूषित होने से बचाने के लिए विभिन्न तरह के कार्यक्रम आयोजित करने वाले राजन किशोर कहते हैं इसका मतलब तो यह है कि यमुना नदी ताज महल के सम्पूर्ण डिजाइन के मध्य में स्थित है।

किशोर ने कहा, "यदि स्मारक का एक सिरा कमजोर और झुका हुआ है तो कोई यह कैसे कह सकता है कि स्मारक की स्थिति ठीक है।"

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के वीके शुक्ला और उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के बीबी अवस्थी कहते हैं कि ताज महल के आसपास के इलाके की हवा में कालिख और धूल की मात्रा तेजी से बढ़ रही है और यमुना का सूखना इसकी मुख्य वजह है।

प्रदूषण बोर्ड के वैज्ञानिकों का कहना है कि वातावरण में रेत के कण सामान्य से बहुत ज्यादा हैं लेकिन यदि यमुना में पानी हो तो वायु में इनकी मात्रा कम हो सकती है।

back to top

loading...
Bookmaker with best odds http://wbetting.co.uk review site.