Logo
Print this page

ताजमहल और यमुना को बचाने के लिए कई परियोजनाओं को मंजूरी

ताजमहल और यमुना को बचाने के लिए कई परियोजनाओं को मंजूरी

ताजमहल और यमुना को बचाने के लिए कई परियोजनाओं को मंजूरीराष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन की कार्यकारी समिति ने आगरा के ताजमहल सहित कई शहरों में होकर बहने वाली यमुना नदी के शुद्धीकरण के लिए 1573.28 करोड़ रुपये से अधिक की लागत वाली 10 परियोजनाओं को मंजूरी दे दी है।

केन्द्रीय जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में हुई एक बैठक में इससे जुड़े कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए।

परियोजना के प्रमुख घटकों में 61 नालों की निकासी की व्यवस्था, तीन सीवरेज शोधन संयंत्र और 15 वर्ष के लिए इनका संचालन और रख-रखाव शामिल है। उम्मीद की जा रही है कि इन परियोजनाओं से आगरा शहर से यमुना नदी में होने वाले प्रदूषण के स्तर को कम किया जा सकेगा और ताजमहल को बचाने में मदद मिलेगी। साथ ही, नदी के जल की गुणवत्ता और क्षेत्र के सौंदर्य में सुधार होगा।

कार्यकारी समिति ने कासगंज क्षेत्र में भी एक सीवेज शोधन संयंत्र को मंजूरी दी है। इस समय कासगंज में गंदा पानी निकासी की कोई व्यवस्था नहीं है। बेकार पानी खुले नालों में जाता है जो अंत में काली नदी में गिरकर नदी को प्रदूषित करता है। इस परियोजना के अंतर्गत काली नदी में गिरने वाले सभी नालों की निकासी की व्यवस्था की जाएगी और बेकार पानी का शोधन किया जाएगा।

मंत्रालय ने देश के कई दूसरे शहरों में भी इस तरह के कई शोधन संयंत्र लगाए जाने की योजना बनाई है।

Related items

Developed By Rajat Varshney | Conceptualized By Dharmendra Kumar | Powered By Mediabharti Web Solutions | Copyright © 2018 Mediabharti.in.